किसी हरिजन की जमीन कैसे खरीदें? जानिए क्या है Leegal तरीका

0
397

इसमें कोई दो राय नहीं कि जमीन खरीदना सबसे फायदेमंद निवेशों में से एक है लेकिन हर किसी जमीन को खरीदने की प्रक्रिया भी अलग-अलग होती है अतः आज हम आपको बताएंगे किसी हरिजन की जमीन कैसे खरीदें? उसके लिए क्या-क्या आवश्यक प्रक्रिया होती है और कैसे आप किसी भी हरिजन की भूमि को अपने नाम कर सकते हैं।

हरिजन की जमीन कैसे खरीदें?

अनुसूचित जाति/ हरिजन की जमीन कैसे खरीदें? किसी भी राज्य में 

चाहे सरकारी जमीन हो या किसी आरक्षित वर्ग की भूमि, उसे अपने नाम करने के लिए सभी को कानूनी प्रक्रिया का पालन तो करना ही पड़ता है। उसके बाद ही जमीन आपके नाम पर होती है परंतु जब बात आती है किसी हरिजन की जमीन को खरीदने की तो, सामान्य वर्ग से संबंध रखने वाले लोगों के लिए यह थोड़ा सा कठिन हो जाता है।

क्योंकि इंडिया में हरिजन समुदाय की सुरक्षा के लिए ऐसे कई कानून बनाए गए हैं जो उनके लिए तो फायदेमंद साबित होते हैं परंतु दूसरे व्यक्ति के लिए परेशानी पैदा कर देते हैं। अगर किसी जनरल समुदाय के व्यक्ति को हरिजन की जमीन खरीदनी है तो उसे क्या करना पड़ेगा, इस आर्टिकल के द्वारा हम आपको यही बता रहे हैं।

« {5 तरीके } ब्याज से पैसे कैसे कमाए? लाखों कमाने के तरीके

1: जमीन का दाम तय करें।

बता दें कि, चाहे आपको किसी सामान्य व्यक्ति की जमीन खरीदनी हो या फिर हरिजन समुदाय से संबंध रखने वाले व्यक्ति की जमीन खरीदनी हो, आपको कुछ ना कुछ डॉक्यूमेंट अवश्य देने ही पडते हैं। इस प्रकार आपको जमीन खरीदने के लिए सबसे पहले तो जमीन के मालिक से इस बारे में बात कर लेनी चाहिए कि, वह अपनी जमीन को कितने रेट में बेचना चाहता है। जमीन का रेट वर्ग, फुट, विश्वा, और बीघा में तय होता है।

2: आवश्यक डॉक्यूमेंट तैयार करें।

जब जमीन का रेट हो जाए तब आपको जमीन खरीदने के लिए पैसे और अपने आवश्यक डॉक्यूमेंट को भी तैयार कर लेना चाहिए। जमीन खरीदने के लिए कुछ आवश्यक डॉक्यूमेंट लगते हैं, जो इस प्रकार है।

  •  आप के आधार कार्ड की फोटो कॉपी
  •  पैन कार्ड की फोटो कॉपी
  •  पासपोर्ट साइज की 4 रंगीन फोटो
  • ईमेल आईडी (आवश्यकता पड़ने पर)
  • फोन नंबर
  •  पहचान पत्र
  •  मूल निवास सर्टिफिकेट
  •  जाति प्रमाण पत्र
  •  वोटर आईडी कार्ड इत्यादि

3: जिलाधिकारी से परमिशन लें।

बता दें कि, अगर कोई सामान्य समुदाय का व्यक्ति किसी दूसरे सामान्य समुदाय के व्यक्ति की जमीन को खरीदता है, तो उसे जिलाधिकारी से परमिशन लेने की आवश्यकता नहीं होती है, परंतु अगर कोई सामान्य समुदाय का व्यक्ति हरिजन समुदाय के व्यक्ति की जमीन खरीदना चाहता है तो उसे जिलाधिकारी से परमिशन लेनी होगी।

इसके लिए जमीन का जो हरिजन मालिक है उसे और जो जमीन खरीदना चाहता है उन दोनों को जिलाधिकारी के पास जाना होता है और उनके सामने एक एप्लीकेशन दे करके यह दर्शाना होता है कि वह अपनी मर्जी से अपनी जमीन सामान्य समुदाय के व्यक्ति को बेचना चाहता है।

इसके बाद जिलाधिकारी के द्वारा उस एप्लीकेशन फॉर्म पर मुहर लगा दी जाती है जिससे यह साबित होता है कि जिलाधिकारी के द्वारा हरिजन समुदाय के व्यक्ति को यह परमिशन दे दी गई है कि वह अपनी जमीन को सामान्य समुदाय के व्यक्ति को बेच सकें।

« जानिए सरकारी जमीन खरीदने से जुडी ध्यान रखने योग्य बातें –

4: रजिस्ट्री कार्यालय जाएं।

जिलाधिकारी से परमिशन मिल जाने के बाद जमीन के हरिजन मालिक को और जमीन खरीदने वाले सामान्य व्यक्ति को रजिस्ट्री कार्यालय में जाना पड़ता है, क्योंकि यहीं पर जमीन की खरीदी और बिक्री होती है।

यहां पर ₹100 के स्टांप पेपर पर जमीन बेचने वाले और जमीन खरीदने वाले दोनों व्यक्ति को सिग्नेचर करनी पड़ती हैं और कुछ आवश्यक प्रक्रिया को पूरी करना पड़ता है, साथ ही जो व्यक्ति जमीन खरीदने वाला है उसे कुछ पैसे यहां पर जमा करने होते हैं जिसे जमीन की लिखाई कहा जाता है।

यहां पर आवश्यक कानूनी प्रक्रिया पूरी हो जाने पर कुछ दिन के अंदर राजस्व डिपार्टमेंट की ऑफिशियल वेबसाइट पर जमीन के नए मालिक का नाम चढ़ा दिया जाता है।

« आधार कार्ड से फोन कैसे खरीदें? चुनिए अपना पसंदीदा फोन

FAQ: हरिजन की भूमि कैसे खरीदें?

Q: उत्तर प्रदेश में SC-ST व्यक्ति की जमीन कैसे खरीदें?

Ans: बता दे कि, उत्तर प्रदेश में अगर कोई व्यक्ति हरिजन व्यक्ति की जमीन खरीदना चाहता है, तो उसके लिए सबसे पहले उसे जिलाधिकारी से परमिशन लेनी होगी।

Q: यूपी में हरिजन की जमीन खरीदने की शर्त क्या है?

Ans: जमीन बेचने वाले व्यक्ति का कोई भी वारिश जीवित ना हो, जमीन का मालिक हरिजन व्यक्ति किसी दूसरे राज्य में हमेशा के लिए रहने चला गया हो, बीमारी की अवस्था में इलाज कराने के लिए पैसा पाने के लिए

Q: जिलाधिकारी हरिजन व्यक्ति को जमीन बेचने का आदेश कब नहीं देता?

Ans: अगर जमीन बेचने के बाद हरिजन व्यक्ति के पास 3.125 एकड जमीन से कम जमीन बचती है, तो उसे परमिशन नहीं मिलती।

निष्कर्ष 

तो साथियों इस लेख को पढने के बाद किसी हरिजन की जमीन कैसे खरीदें? उसकी लीगल प्रक्रिया क्या है? पूरी जानकारी आपको मिल चुकी होगी, पोस्ट पसंद आई है तो शेयर भी कर दें।

3.8/5 - (13 votes)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here