सरकारी जमीन पर कब्जा कैसे करें? रजिस्ट्री करने का जानें यह तरीका

0
201

अगर आप अपने नगर, जिले या किसी ग्रामीण इलाके की सरकारी जमीन को अपने नाम करना चाहते हैं तो इस पोस्ट में हम सरकारी जमीन पर कब्जा कैसे करें? इसके लिए क्या नियम है? क्या तरीके हैं इस बात को विस्तार से समझेंगे।

सरकारी जमीन पर कब्जा कैसे करें

देश के शहरी इलाको में अधिकतर जमीने किसी न किसी व्यक्ति के नाम पर अथवा कंपनी के नाम पर रजिस्टर्ड होती हैं। इसलिए शहरी इलाकों में सरकारी जमीन पर कब्जा कर पाना मुश्किल होता है, परंतु अगर इंडिया के ग्रामीण इलाकों की बात की जाए, तो ग्रामीण इलाकों में ऐसी बहुत सारी जमीनें होती है, जिन पर किसी का भी अधिकार नहीं होता है।

अधिकतर यह किसी मैदान में होती हैं या फिर किसी तालाब के रूप में होती है या किसी खाली खेत के रूप में होती है‌। कई लोग इन जमीनों पर कब्जा करने के बारे में सोचते हैं। तो आइये जानते हैं

सरकारी जमीन पर कब्जा कैसे करें? क्या है सही प्रक्रिया 

बता दे कि इंडिया में कई राज्य हैं और हर राज्य में सरकारी जमीन पर कब्जा करने के नियम अलग-अलग हैं। कुछ राज्यों में अगर आप किसी सरकारी जमीन पर लगातार 8 साल से रह रहे हैं तो आपको उस सरकारी जमीन का कब्जा मिल जाता है, वही किसी स्टेट में अगर आप किसी सरकारी जमीन पर लगातार 12 साल से रह रहे हैं तो आपको उस सरकारी जमीन पर अधिकार प्राप्त हो जाता है।

कुछ राज्य ऐसे भी हैं, जहां पर 10 साल के बाद आपको उस गवर्नमेंट जमीन पर कब्जा मिल जाता है, जिस पर आपने अधिकार जमा कर रखा हुआ होता है। मुख्य तौर पर हमारे देश में 3 ऐसे राज्य हैं, जहां पर अधिकतर सरकारी जमीन पर कब्जा किया जाता है, जिसमें पहला है यूपी, दूसरा है मध्य प्रदेश और तीसरा है बिहार

UP में खली सरकारी प्लाट/ भूमि  पर कब्जा कैसे करें?

बात करें अगर उत्तर प्रदेश की यहां पर ऐसी कई जमीन है जो बिल्कुल खाली पड़ी हुई है जिन पर किसी भी व्यक्ति का अधिकार नहीं है। ऐसे में अधिकतर लोग यूपी के अंदर ऐसी खाली पड़ी जमीनों पर अपना कब्जा जमा लेते हैं और वहां पर अस्थाई कोई बाड़ा या फिर कोई छोटा मोटा मकान अथवा निर्माण कार्य कर देते हैं, ताकि वह आगे चलकर के इस जमीन पर अपना दावा प्रस्तुत कर सकें।

यूपी के अंदर सरकारी जमीन पर कब्जा करने के लिए उत्तर प्रदेश के नियमों के अनुसार खाली पड़ी सरकारी जमीन पर तकरीबन 8 साल तक अधिकार जमा कर रखना होगा अर्थात अगर यूपी में किसी ऐसी जमीन पर आप 8 साल से काबिज है, जो किसी के नाम भी दर्ज नहीं है, तो आप उस पर अपना अधिकार ठोक सकते हैं।

इसके अलावा हम आपको एक रास्ता और बता देते हैं कि अगर किसी गवर्नमेंट प्रॉपर्टी पर आपने अपना अधिकार जमाया हुआ है, तो आप अपने ग्राम प्रधान से कहकर उस जमीन का पट्टा अपने नाम करवा सकते हैं, क्योंकि पंचायती राज ने ग्राम प्रधान को यह अधिकार दिया है कि वह किसी गरीब व्यक्ति को सरकारी जमीन का पट्टा दे सके।

MP राज्य में सरकारी जमीन अपने नाम कैसे करें?

मध्य प्रदेश गवर्नमेंट ने हाल ही में एक ऐसा आदेश पास किया जिसके अंतर्गत जिन लोगों ने साल 2014 के पहले से ही किसी गवर्नमेंट जमीन पर कब्जा जमा कर रखा है, उन्हें तहसीलदार उस गवर्नमेंट जमीन का पट्टा दे देगा।

हालांकि यह आदेश सिर्फ शहरी इलाकों में ही काम करेगा। इसके अलावा ग्रामीण इलाके में रहने वाले व्यक्ति अगर किसी सरकारी जमीन को कब्जाए बैठे हैं तो उन्हें उस जमीन का मालिकाना हक प्राप्त करने के लिए अपने ग्राम पंचायत अधिकारी से मिलना पड़ेगा।

क्योंकि ग्राम पंचायत अधिकारी के पास यह अधिकार होता है कि वह जमीन का पट्टा किसी भी व्यक्ति को दे सके, जो उसके लिए पात्र हो। अगर ग्राम पंचायत अधिकारी से आपकी बात नहीं बनती है तो आप एसडीएम ऑफिसर के पास भी लिखित में अपना एप्लीकेशन दे सकते हैं। अगर उन्हें ठीक लगता है तो वह भी आपको गवर्नमेंट जमीन का पट्टा दे देंगे और आप मध्य प्रदेश में सरकारी जमीन पर काबिज हो जाएंगे।

क्षेत्रफल के हिसाब से देखा जाए तो मध्य प्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य है। इसीलिए यहां उत्तर प्रदेश से भी ज्यादा सरकारी जमीन खाली पड़ी हुई है, जिन पर किसी का भी अधिकार नहीं है।

इसीलिए मध्यप्रदेश में कई बड़े किसानों के पास 500 बीघा से भी अधिक जमीन है। हालांकि यहां पर जमीन खाली रहने का एक कारण बंजर जमीन का होना भी है क्योंकि बंजर जमीन पर कोई भी फसल नहीं होती है। इसीलिए ऐसी जमीनों को कोई भी कब्जा नहीं करता है।

बिहार में सरकारी जमीन पर कब्जा कैसे करें?

उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के मुकाबले बिहार में सरकारी जमीन पर कब्जा करना थोड़ा सा मुश्किल है, क्योंकि यहां पर सरकारी जमीन पर कब्जा पाने के लिए आपको किसी गवर्नमेंट जमीन को 30 सालों से भी अधिक साल तक कब्जा करके रखना होगा, तभी आप उस पर अपना दावा ठोक सकते हैं, परंतु जैसा कि आप जानते हैं कि पंचायती राज इंडिया के लगभग हर राज्य में चलता है।

इसलिए अगर आप बिहार राज्य के निवासी हैं और वहां पर किसी गवर्नमेंट प्रॉपर्टी को आपने कब्जा करके रखा है, तो आप अपने ग्राम प्रधान से उस जमीन का पट्टा अपने नाम करने के लिए कह सकते हैं।

अगर आप एलिजिबिलिटी के पैमाने में फिट बैठते हैं, तो ग्राम प्रधान ब्लॉक से आवश्यक कार्रवाई करके उस जमीन के पट्टे को सरकारी रिकॉर्ड में आपके नाम दर्ज करवा देगा। आप चाहे तो एसडीएम के पास भी जमीन का पट्टा अपने नाम करवाने के लिए लिखित में अर्जी दे सकते हैं।

« किसी हरिजन की जमीन कैसे खरीदें? जानिए क्या है Leegal तरीका

निष्कर्ष

तो साथियों इस लेख का विस्तृत अध्ययन करने के बाद आपको सरकारी जमीन पर कब्जा कैसे करें? इस बात की जानकारी मिल चुकी होगी। आपको यह पोस्ट कैसा लगा हमें कमेंट के माध्यम से अवश्य अवगत करवाएं।

5/5 - (2 votes)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here