देखें दिल्ली में जमीन का रेट| जगह सस्ती हुई या फिर महँगी

0
98

जमीन खरीदना जहां किसी का सपना होता है तो वहीं कोई इसे निवेश के तौर पर देखता है। इसीलिए हर व्यक्ति अपनी जमीन को बेचने से बचता है, साथ ही जिन लोगों के पास जमीन नहीं है वह भी पाई पाई इकट्ठा करके जमीन खरीदने का प्रयास करते हैं। आज हम आपको देश की राजधानी दिल्ली में जमीन का रेट बताएँगे!

दिल्ली में जमीन का रेट

अगर आप अपनी जमीन पर रहते हैं तो आपको वहां से कोई भी नहीं हटा सकता है, साथ ही जब चाहे तब आप अपने प्लाट पर घर बना सकते हैं या फिर कुछ भी कर सकते हैं। इसलिए लोग अपनी खुद की जमीन खरीदना पसंद करते हैं।

दिल्ली में जमीन का रेट| जानें कहाँ है कीमत में गिरावट 

दिल्ली हमारे देश की राजधानी है, जहां से पूरे भारत का मैनेजमेंट चलाया जाता है। दिल्ली में जमीन खरीदना हर व्यक्ति का सपना होता है क्योंकि दिल्ली मेट्रो सिटी में गिनी जाती है। यहां पर वह तमाम प्रकार की सुख सुविधाएं हैं जो एक इंसान को चाहिए होती है।

हालांकि दिल्ली में जमीन खरीदना इतना आसान नहीं है क्योंकि मेट्रो सिटी होने के कारण यहां पर जमीनें काफी महंगी है। अगर आप दिल्ली में जमीन खरीदने में इंटरेस्टेड है तो हम आपको साउथ दिल्ली, नॉर्थ दिल्ली, ईस्ट दिल्ली और वेस्ट दिल्ली में जमीनों के रेट के बारे में संभावित आंकड़ा बता रहे है।

« दादा परदादा की जमीन अपने नाम कैसे करें? क्या है क़ानूनी प्रक्रिया

साउथ दिल्ली में जमीन का रेट

साउथ दिल्ली में बहुत सारे ऐसे पौश इलाके हैं, जहां पर जमीनों की कीमत आसमान छू रही है। हौज खास, जोर बाग, शांतिनिकेतन, पंचशील एंक्लेव, सफदरगंज, ग्रीन पार्क, ग्रेटर कैलाश जैसा इलाका भी साउथ दिल्ली में ही आता है।

जो लोग दिल्ली में जमीन खरीदना चाहते हैं और यह जानना चाहते हैं कि दिल्ली में जमीन का रेट क्या है तो उन्हें बता दे कि साउथ दिल्ली में जमीन का रेट 1,10,000 से चालू होकर के 12 करोड़ 20 लाख तक जा सकता है।

यह पैसे सुविधा के हिसाब से और इलाके के हिसाब से अलग-अलग भी हो सकते हैं। हालांकि इतना तो कंफर्म है कि दिल्ली में अब जगह की काफी कमी है। इसलिए दिल्ली के अधिकतर इलाकों में प्रॉपर्टी खरीदना सामान्य लोगों के बस की बात नहीं है।

Get Full List of property Rates in DELHI

ईस्ट दिल्ली में जमीन का रेट

प्रॉपर्टी में इन्वेस्ट करने वाले निवेशकों के लिए ईस्ट दिल्ली पॉपुलर इलाके में से एक है। यहां पर भी दिल्ली के अन्य इलाकों के मुकाबले जमीनों का रेट अधिक ही है।

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि दिल्ली में खाली जमीन की कमी है, साथ ही प्रॉपर्टी बेचने वाले लोगों की भी कमी है। दिल्ली में अधिकतर आपको प्रॉपर्टी या तो भाड़े पर मिलेगी या फिर रीडिप्लॉयमेंट के लिए मिलेगी। कुछ गिने-चुने लोग ही होंगे जो प्रॉपर्टी बेचने वाले होंगे।

ईस्ट दिल्ली में अगर जमीन के रेट के बारे में बात करें तो जमीन का रेट लोकेलिटी के हिसाब से अलग-अलग है। अगर ईस्ट दिल्ली में आने वाले शाहदरा इलाके की बात करें तो यहां पर जमीन का रेट कम से कम 1000 स्क्वायर फुट से लेकर अधिकतम 11304 स्क्वायर फुट है।

हमने यह पाया कि ईस्ट दिल्ली में आने वाले सभी इलाकों की जमीन का रेट कम से कम 3659 से लेकर के अधिकतम 22,158 स्क्वायर फुट है।

« आदिवासी की जमीन कैसे खरीदें? 

« किसी हरिजन की जमीन कैसे खरीदें? 


वेस्ट दिल्ली में जमीन का रेट

वेस्ट दिल्ली में उत्तम नगर, साकेत, पश्चिम विहार, द्वारका़, सफदरगंज एनक्लेव, ग्रेटर कैलाश 1, रोहिणी सेक्टर 24, डिफेंस कॉलोनी जैसे इलाके आते हैं और आपको हम यह बता दे कि यहां पर भी जमीनों के रेट दिल्ली के अन्य इलाके से किसी भी प्रकार से कम नहीं है।

दिल्ली में जमीनों का दाम अधिक होने का एक कारण यह भी है कि दिल्ली में जनसंख्या ज्यादा है और जमीन कम है, साथ ही शहर होने के नाते यहां पर मुश्किल से ही कोई जगह खाली होती है। इसलिए दिल्ली में अक्सर जमीनों को लेकर के लड़ाई झगड़े होते ही रहते हैं।

वेस्ट दिल्ली में भूमि के रेट के बारे में बात करें तो यहां पर जमीनों का कम से कम रेट 1120 स्क्वायर फुट से चालू होता है और इसका अधिकतम रेट 1,64,002 के आसपास है।

इस प्रकार आप यह अंदाजा लगा सकते हैं कि वेस्टे दिल्ली में जमीन खरीदना कितना मुश्किल है। जो अरबपति/करोड़पति है, वही यहां पर जमीन ले पाते हैं। इस इलाके में लखपति लोगों की भी जमीन लेने की जल्दी हिम्मत नहीं होती है।

नॉर्थ दिल्ली में जमीन का रेट

लेटेस्ट प्राइस ट्रेंड के हिसाब से नॉर्थ दिल्ली जमीन खरीदने के मामले में काफी अच्छा इंडिकेशन दे रही है। नॉर्थ दिल्ली में प्रॉपर्टी की प्राइस रेंज एक लाख से चालू होती है और इसकी एवरेज प्राइस रेंज 1 करोड़ 68 लाख तक जाती है।

पीतमपुरा, बुराड़ी, डॉक्टर मुखर्जी नगर, शास्त्री नगर, करोल बाग, मॉडल टाउन जैसे इलाके नॉर्थ दिल्ली के अंतर्गत आते हैं। यहां पर जमीनों का रेट 2142 स्क्वायर फुट से चालू होता है और यह अधिकतम 27917 स्क्वायर फुट तक जाता है।

« सरकारी जमीन पर कब्जा कैसे करें?

निष्कर्ष

तो साथियों दिल्ली में जमीन का रेट जानने के बाद आपको यह मालूम हो गया कि इस दौर में भूमि का एक टुकड़ा भी कितना महंगा हो चुका है। अगर आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इसे अपने मित्रों के बीच सांझा भी कर दें।

Rate this post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here