बिहार में जमीन का बँटवारा कैसे करें? पूरी जानकारी बेहद आसान शब्दों में

0
29

हमारे इंडिया में आज के टाइम में कई सारे राज्य काफी विकसित हो गए हैं लेकिन आज भी बिहार में खेती बाड़ी होती है और वहां लोग जमीन को ही अपनी सबसे बड़ी पूंजी मानते हैं। अगर आप भी बिहार राज्य के निवासी हैं और आपके पास भी अपनी पुश्तैनी जमीन है तो आपको यह आर्टिकल जरूर पढ़ना चाहिए क्योंकि इस आर्टिकल को पढ़कर आप जानेंगे कि बिहार में जमीन का बँटवारा कैसे करें?

बिहार में जमीन का बँटवारा

जहां जमीन जायदाद की बात होती है वहां बंटवारा भी जरूर होता है। और अगर आपकी फैमिली में आपके भाई बहन है तो पूरी जमीन आप की नहीं हो सकती क्योंकि उसमें आपके भाई बहन का भी अधिकार होगा। लेकिन जो लोग पढ़े लिखे नहीं होते हैं उन्हें अक्सर दूसरे लोग जमीन के मामले में बेवकूफ बना देते हैं और जायदाद का बड़ा हिस्सा अपने नाम कर लेते हैं आपके साथ ऐसा ना हो इसीलिए आपको बिहार में जमीन का बँटवारा कैसे करें? पता होना चाहिए।

लेकिन इस बारे में आगे जानने से पहले आपके लिए यह जानना जरूरी है कि बिहार में जमीन बंटवारे के लिए क्या नियम बनाए गए हैं ताकि आपको जमीन का बंटवारा करने में किसी तरह की कोई परेशानी ना हो।

बिहार में जमीन के बंटवारे के नियम

बिहार में जमीन के मामले में बहुत ज्यादा विवाद होते हैं और कुछ विवाद तो ऐसे होते हैं जिन्हें सुलझाना बहुत मुश्किल होता है। लेकिन सरकार ने ये नियम बनाया है कि अब से जमीन से जुड़े विवाद आपसी बातचीत से सुलझाए जाएंगे। और दोनों पक्षों के सहमति के बाद ही जमीन का बंटवारा किया जाएगा।

सरकार ने यह भी बात कही है कि अगर किसी परिवार में 10 लोग रहते हैं और उनमें से 6 लोग जमीन बंटवारा के मामले में किसी एक पक्ष का साथ देते हैं तो उस पक्ष के अधिकार में जमीन का फैसला लिया जाएगा।

बिहार में जमीन का बँटवारा कैसे करें? पूरी प्रक्रिया समझें 

जमीन के बंटवारे में जो भाग पहले लड़कों को मिलता था अब वह लड़कियों को भी मिलने लगा है क्योंकि करीब 3 साल पहले ये कानून बनाया गया है कि जमीन के बंटवारे में भाइयों के साथ साथ बहनों को भी हिस्सेदारी में शामिल किया जाएगा। भाई बहनों के बीच जमीन का बंटवारा करने के लिए आपको निम्न चीजें करनी पड़ेगी –

#1. जमीन की दाखिल खारिज करें

जमीन को आपस में बांटने से पहले आपको जमीन की दाखिल खारिज करानी होगी। जमीन की दाखिल खारिज करने का मतलब होता है जमीन को मालिक के नाम पर करना जब आप कोई जमीन के मालिक बनते हैं तो उसे राजस्व भूमि के अंतर्गत अपने नाम से रजिस्टर करना पड़ता है। क्योंकि अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो आप के जमीन पर आपका कोई मालिकाना हक नहीं होगा।

#2. तीन तरह से कर सकते हैं बंटवारा

जमीन की दाखिल खारिज कराने के बाद अब बारी आती है जमीन को बांटने की! जमीन का बटवारा करने के लिए आपके भाई बहनों का बटवारा के लिए सहमत होना जरूरी है‌। जब आप के भाई बहन बटवारा के लिए राजी हो जाए तो आप नीचे बताए इन 3 तरीकों से बंटवारा कर सकते हैं –

#1. आपसी सहमति से बटवारा

इस तरह के बंटवारे में परिवार के सभी लोगों की मौजूदगी में बटवारे के भागीदार लोग आपस में बात करते हैं और आपसी सहमति से निर्णय लेने की कोशिश करते हैं लेकिन इस तरह का बंटवारा करना बहुत मुश्किल होता है।

क्योंकि अगर भागीदारों में से कोई एक भागीदार आगे चलकर अपनी बात बदल लेता है तो बाकियों के लिए यह चीज काफी मुश्किल हो जाती है और फिर से विवाद शुरू हो जाता है इसीलिए आपको कोशिश करनी चाहिए कि आप इस तरह से अपने जमीन का बंटवारा ना ही करें।

#2. पंचायत की उपस्थिति में बटवारा

ये बटवारा भी कुछ-कुछ आपसी सहमति के जैसा होता है लेकिन इसकी खासियत ये होती है कि इसमें गांव के पंचायत और मुखिया मौजूद होते हैं और उनके उपस्थिति में जमीन का बंटवारा किया जाता है ताकि अगर बाद में किसी को बंटवारे से कोई समस्या हो तो विवाद होने से पहले ही वह खत्म हो जाए।

क्योंकि तब लोग अपने बात से नहीं मुकर पाएंगे। अगर आप गांव में रहते हैं और आपको कानून की ज्यादा जानकारी नहीं है तो आप इस तरह से बंटवारा कर सकते हैं।

#3. रजिस्ट्री बटवारा

पर ऊपर बताए गए इन दोनों तरीकों में रजिस्ट्री बटवारा सबसे अच्छा है क्योंकि एक तो इस बंटवारे को कानूनी मान्यता प्राप्त होती है और दूसरा इसे अवैध कहना भी मुश्किल होता है।

हालांकि रजिस्ट्री बटवारा सुनने में जितना ज्यादा आसान लगता है असल में ये उतना आसान नहीं है क्योंकि इस तरह से जमीन का बंटवारा करने के लिए आपको कई कानूनी चीजों को टैकल करना पड़ता है और पैसे भी खर्च करने पड़ते हैं।

साथ ही साथ अगर आप जिस जमीन का बंटवारा करने की बात कर रहे हैं अगर उनके मालिक यानी कि जमीन के भागीदार छोटे बच्चे हैं तो ऐसे हालात में जमीन का बंटवारा करना और भी मुश्किल हो जाता है। जिससे विवाद उत्पन्न होने की संभावना बनी रहती है।

« किसी हरिजन की जमीन कैसे खरीदें? जानिए क्या है Leegal तरीका

घर का सरकारी बंटवारा कैसे करें ?

अगर आप अपने घर का सरकारी तरीके से बंटवारा करना चाहते हैं तो आपको रजिस्ट्री बटवारा का ही सहारा लेना होगा। इस तरह से बटवारा करने के लिए सरकार के कुछ अधिकारी पहले आपके घर के कुल जमीन की जांच करेंगे और फिर उसके आधार पर जमीन का बंटवारा करेंगे। आपके घर पर जितना ही हिस्सा जिसका बनेगा उसे उतना हिस्सा दिया जाएगा।

पिता की संपत्ति पर बेटे का क्या अधिकार है ?

पिता अपनी संपत्ति के जितना भागीदार होता है उतना ही भागीदार उनका बेटा भी होता है और कुछ साल पहले निकले कानून के हिसाब से अब बेटियां भी पिता की संपत्ति की बराबर की मालकिन होती है।

« Rapid Paisa से लोन कैसे लें?10 हजार का लोन सिर्फ 2 मिनट में

अंतिम शब्द

तो साथियों यह पोस्ट पढ़कर आपको यह मालूम हो चुका होगा की बिहार में जमीन का बँटवारा कैसे करें? क्या यह पोस्ट आपको उपयोगी साबित हुआ? अगर हाँ तो इसे अधिक से अधिक सांझा जरुर करें!

Rate this post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here